Skip to content
VM Samael Aun Weor: Gnosis in Hindi - VOPUS
हमें अपने मन को सभी प्रकार की पूर्व कल्पनाओं, लालसाओं, डरों, नफरतों, विद्यालयों, आदि से मुक्त कर देना चाहिए. वह सभी दोष झंझीरें हैं जो की हमारे मन को बाहरी इन्द्रियों से जकड़े हुए हैं.सामाएल आउन वियोर. तैरोत और काबलाह, पाठ ५५.

How do clairvoyants greet eachother

छापें ई-मेल
इस के लेख़क हैं सम्पादक   
blind clairvoyant

How do two clairvoyants greet eachother?

- You are ok. How am I?

clairvoyants greet eachother














AddThis Social Bookmark Button